April 11, 2018

100+ Best Suvichar Thoughts In Hindi

Best Hindi Suvichar, Suvichar Status, Motivational Hindi Status, Life Changing Quotes, Inspirational, Best Thoughts, Daily Life Suvichar In Hindi, Hindi Suvichar, Success Quotes, Whatsapp Status In Hindi, Top Best Status, 100 Motivational Suvichar. Read And Share If You Like It.


समर्थन और विरोध विचारों का होना चाहिए व्यक्ति का नहीं. मत भेद कभी मन भेद नहीं बनने चाहिए।
बारिश की एक बूंद तूफान की तुलना में क्या है? एक विचार मन की तुलना में क्या है? हमारी एकता आश्चर्य से पूर्ण है जो तुम्हारा छोटा व्यक्तिवाद धारण भी नहीं कर सकता है।
एकता शक्ति है... जहाँ सामूहिक कार्य और सहयोग है वहां अद्भुत चीजे हासिल की जा सकती है।
ईर्ष्या और क्रोध से जीवन क्षय होता है।
ईमानदारी एक बहुमूल्य उपहार है, घटिया लोगों से उसकी अपेक्षा न करें।
कायर तभी धमकी देता है, जब सुरक्षित होता है।
किताबें जलाने से भी बदतर अपराध हैं, उनमे से एक है उन्हें ना पढना।
कोई व्यक्ति, चाहे पुरुष हो या महिला, जिसे एक अच्छा उपन्यास पढने में आनंद ना आये, वो निश्चित रूप से बहुत मूर्ख होगा।
मैंने खुश रहने का फैंसला किया है क्योंकि यह मेरे स्वास्थ्य के लिए अच्छा है।
ख़ुशी मुश्किलों की गैर-हाज़िरी नहीं बल्कि इनसे निपटने की ताक़त में होती है।
चरित्र वृक्ष के समान होता है और यश उसकी छाया के समान। अतः हम किसी विषय में सोचते है, वह तो छाया है, वास्तविक वस्तु तो वृक्ष है।
चरित्रवान व्यक्ति शिक्षा और ज्ञान में ही वृद्धि नहीं करता बल्कि वह दुसरो के दिलों में भी घर करता है।
जब घर में धन और नाव में पानी आने लगे, तो उसे दोनों हाथों से निकालें। ऐसा करने में बुद्धिमानी है। हमें धन की अधिकता सुखी नहीं बनाती।
जीवन की माप उसके अवधि से नहीं बल्कि उसके दान से है।
शत्रु के साथ मृदुता का व्यवहार अपकीर्ति का कारण बनता है और पुरुषार्थ यश का।
दुश्मन की दोस्ती मिलने से बेहतर है दोस्त की दुश्मनी।
धैर्य कड़वा है लेकिन उसका फल बहुत मीठा है।
हमारा धैर्य, हमारे गुण से अधिक हासिल कर सकता है।
बदलाव बहुत कठिन काम है।
अपने पसीने का आनंद उठाइए क्योंकि कठिन परिश्रम सफलता की गारंटी नहीं देता, पर उसके बिना कोई चांस ही नहीं है।
ध्यान केन्द्रित कर कठिन परिश्रम करना ही सफलता की असली चाभी है।
किसी से बहुत अधिक प्यार मिलना हमें शक्ति देता है, जबकि किसी को बहुत अधिक प्यार करना हमें साहस देता है।
उन लोगों को कभी न भूलें जिन्होंने आपका साथ तब दिया जब आपके पास कोई नहीं था।
एक अच्छे इन्सान के साथ धोखा करना हीरे को फेककर पत्थर उठाने जैसा है।
यदि प्रतिभा प्रखर है, तो यह बल, संसाधनों की कमी, और ज्यादा परिश्रम करने से भी अलंघ्य है।
सुखों का त्याग करना बुद्धिमानों की प्रकृति है, लेकिन मूर्ख उनके दास ही बने रहना चाहते हैं।
बुद्धिमानी और चरित्र यही सच्ची शिक्षा का उद्देश्य है।
बुद्धिमान बनने की कला वह जानने की कला है कि किसे नजरंदाज करना है।
उत्साह आदमी की भाग्यशिलता का पैमाना है।
मनुष्य स्वयं अपने भाग्य का निर्माता है।
पता नहीं कैसे पत्थर की मूर्ति के लिए जगह बना लेते हैं घर में वो लोग, जिनके घर में माता-पिता के लिए कोई स्थान नहीं होता।
माँ से पैसे लेते लेते कब, माँ को पैसे देने की उम्र हो गयी, पता ही नहीं चला।
नफरत हैं मुझे हर उस इंसान से जो छोटी-छोटी बात में अपनी माँ की कसम खा कर उसे दाव पर लगा देते हैं।
अपनी सर्वोत्तम क्षमताओं के अनुसार राजनीतिक मामलों में दोषसिद्धि हर नागरिक का कर्तव्य है।
मानव, स्वभाव से एक राजनीतिक पशु है।
जिस व्यक्ति का मन शांत होता है, जो व्यक्ति बोलते और अपना काम करते समय शांत रहता है। वह वही व्यक्ति होता है जिसने सच को हासिल कर लिया है और जो दुःख-तकलीफों से मुक्त हो चुका है।
आपकी अच्छाई आपके मार्ग में बाधक है, इसलिए अपनी आँखों को क्रोध से लाल होने दीजिये, और अन्याय का मजबूत हाथों से सामना कीजिये।
अन्याय में सहयोग देना, अन्याय करने के ही समान है।
याद रखिये सबसे बड़ा अपराध अन्याय सहना और गलत के साथ समझौता करना है।
अन्याय की नींव पर स्थापित राज्य कभी नहीं टिकता।
हमारे आलस्य की सजा सिर्फ हमारी असफलता नहीं है, दूसरों की सफलता भी है।
जो इंसान को भगवान् से अलग कर देता है वह इंसान को इंसान से भी अलग कर देता है।
एकता से हमारा अस्तित्व कायम रहता है, विभाजन से हमारा पतन होता है।
जब कभी संभव हो दयालु बने रहिये। यह हमेशा संभव है।
जब तक आप अपने को ख़ुशी से नहीं बचाते आप अपने को उदासी से भी नहीं बचा सकते।
जीवन भर केवल ख़ुशी एक जीवित मानव नही झेल सकता, यह ​धरती पर ​नर्क के समान होगा।​
हम आपनी जीविका जो हमें मिलता है उससे चलाते हैं लेकिन हम दान देकर किसी की जिंदगी बनाते हैं।
थोडा सा धैर्य ढेर सारी बुद्धि से अधिक मूल्यवान है।
वह जो नील नदी के समुद्र पर सवारी करेगा उसकी नाव का पाल धैर्य से बुन हुआ होना चाहिए।
लीडर का काम है कि वो अपने लोगो को जहाँ वो हैं वहां से ऐसी जगह ले जाये जहाँ वो नहीं गए हैं।
चाहे तुम सोचो की तुम कर सकते हो, या फिर ये सोचो की तुम नहीं कर सकते हो। तुम हमेशा सही होगे।
सभी चीजें कृत्रिम हैं, क्योंकि प्रकृति ईश्वर की कला है।
आशा ही एक ऐसी मधुमक्खी है जो बिना फूलों के शहद बनाती है।
प्रकृति में गहराई से देखिये, और आप हर एक चीज बेहतर ढंग से समझ सकेंगे।
भाग्यचक्र लगातार घूमा करता है, कौन कह सकता है कि आज मैं उच्च शिखर पर पहुँच जाऊंगा।
कर्मशील लोग शायद ही कभी उदास रहते हो। कर्मशीलता और उदासी दोनों साथ-साथ नहीं रहती है।
काम को आरम्भ करो और अगर काम शुरू कर दिया है, तो उसे पूरा करके ही छोड़ो।
जो स्वयं पर विजय प्राप्त कर ले, उन्हें ही असली आनंद की प्राप्ति होती हैं।
दूसरो की प्रतिभा को पहचानना और उसे प्रकाश का मंच देना ही मेरी बड़ी प्रतिभाओं में से एक है।
लोकतंत्र अच्छा है। मैं ऐसा इसलिए कह रहा हूँ क्योंकि बाकी व्यवस्थाएं और बुरी हैं।
बहुमत का शासन जब ज़ोर-जबरदस्ती का शासन हो जाए तो वह उतना ही असहनीय हो जाता है जितना कि नौकरशाही का शासन।
मुझे सफलता का मन्त्र नहीं पता, पर सभी को खुश करने का प्रयास करना ही असफलता का मन्त्र है।
सफलता अत्यधिक परिश्रम चाहती है।
अपना सपना दूसरों को दिखाने के लिए बहुत साहस चाहिए होता है।
एक छोटी सी आशा की किरण ही प्रेम के जन्म के लिए पर्याप्त है।
बुद्धिमान व्यक्ति जितने अवसर पाते हैं उससे कहीं ज्यादा बनाते हैं।
लोगों को कभी यह मत बताइये कि किसी काम को कैसे करना है। उन्हें बताइये कि क्या करना है और तब वे आपको अपनी प्रवीणता से आश्चर्यचकित कर देंगे।
भाग्य भी निडर का ही साथ देता है।
मेरी दुनिया में इतनी जो शौहरत हैं, मेरी माँ की बदौलत हैं।
मंजिल दूर और सफ़र बहुत हैं, छोटी सी ज़िन्दगी कि फिकर बहुत हैं, मार डालती ये दुनिया कब की हमें, लेकिन माँ की दुआओं में असर बहुत हैं।
अपनी सोच को कैसे बेहतर बनाया जाए, यह सीखने से उत्कृष्ट कुछ नहीं है।
सार्थकता हासिल करने के लिए स्पष्ट तस्वीर बिल्कुल अनिवार्य है।
सबकी सुनने और मानने वाला किसी नतीजे पर नहीं पहुंचता।
भविष्य में वो अनपढ़ नहीं होगा जो पढ़ ना पाए। अनपढ़ वो होगा जो ये नहीं जानेगा की सीखा कैसे जाता है।
सफलता की ख़ुशी मनाना अच्छी बात है पर उससे भी जरूरी है अपनी असफलता से सीख लेना।
असफलता से बस यही प्रमाणित होता है, आपकी सफल होने के संकल्प में पर्याप्त शक्ति नहीं थी।
जिस व्यक्ति ने कभी गलती नहीं कि उसने कभी कुछ नया करने की कोशिश नहीं की।
बिना जूनून के उर्जा पास नहीं रहेगी, और बिना उर्जा के आपके पास कुछ भी नहीं है।
जब तक की कोई भी मनुष्य अपने काम से प्रेम नहीं करता वह सफल नहीं हो सकता।
अपना जूनून खोजें, और फिर आपको वो काम जैसा कभी नहीं लगेगा।
प्रसन्नता पहले से निर्मित कोई चीज नहीं है.. ये आप ही के कर्मों से आती है।
सफलता एक घटिया शिक्षक है... यह लोगों में यह सोच विकसित कर देता है कि वो असफल नहीं हो सकते।
अज्ञानी होना उतनी शर्म की बात नहीं है जितना कि सीखने की इच्छा ना रखना।
तैयारी करने में फेल होने का अर्थ है फेल होने के लिए तैयारी करना।
परिश्रम सौभाग्य की जननी है।
शिक्षा की जड़ कडवी है, पर उसके फल मीठे हैं।
लोकतंत्र इस धारणा पर आधारित है कि साधारण लोगों में असाधारण संभावनाएँ होती है।
अध्ययन हमें आनन्द तो प्रदान करता ही है, अलंकृत भी करता है और योग्य भी बनाता है।
आशावादिता वो विश्वास है जो उपलब्धि की तरफ ले जाती है, बिना आशा और विश्वास के कुछ भी नहीं किया जा सकता।
जब एक टीम व्यक्तिगत प्रदर्शन से ऊपर उठकर टीम का भरोसा करना सीख लेती है, तब उत्कृष्टता वास्तविकता बन जाती है।
आत्म-विश्वास का संचलन पैसे के संचलन से बेहतर है।
समझदारी इसी में है कि कभी भी उस व्यक्ति पर पूरा भरोसा मत कीजिये जिससे आप एक बार भी धोखा खा चुके हों।
गरीब वह नहीं है जिसके पास कम है, बल्कि धनवान होते हुए भी जिसकी इच्छा कम नहीं हुई है, वह सबसे गरीब है।
उस मनुष्य से गरीब कोई नहीं है, जिसके पास केवल पैसा है।
गरीबों के सिवाय कुछ ही ऐसे इंसान हैं जो गरीबों के बारे में सोचते हैं।
किसी चीज की कीमत यह है कि आप उसके बदले में अपनी कितनी जिंदगी लगा देते हैं।
सार्थक जीवन में समस्याएं हो सकती हैं, परन्तु उसमें कोई पश्चाताप नहीं होना चाहिए।
जीवन छोटा है, पर सुंदर है।
जिंदगी में खुश रहना है तो हँसने का बहाना तलाशें।
जीने के लिए तो एक पल ही काफी है, बशर्ते आपने उसे किस तरह जिया।
जिस जीवन कि समीक्षा व परख न की गई हो, वह जीने योग्य ही नहीं है।
दूसरों के लिए जिया जाने वाला जीवन ही लाभप्रद है।
जब घर में धन और नाव में पानी आने लगे, तो उसे दोनों हाथों से निकालें। ऐसा करने में बुद्धिमानी है। हमें धन की अधिकता सुखी नहीं बनाती।
जीवन की माप उसके अवधि से नहीं बल्कि उसके दान से है।
अनुशासन ही उद्देश्य और उपलब्धि के बीच का सेतु है।
स्वयम को अनुशासित कीजिये और आपको दूसरों को अनुशासित करने की जरूरत नहीं पड़ेगी।
हम विश्वास के साथ जिस चीज की भी उम्मीद करते हैं वो स्वयम को पूर्ण करने वाली भविष्यवाणी बन जाती है।
जब एक टीम व्यक्तिगत प्रदर्शन से ऊपर उठकर टीम का भरोसा करना सीख लेती है, तब उत्कृष्टता वास्तविकता बन जाती है।
वो हर व्यक्ति को ईमानदार विचार व्यक्त करता है, बौद्धिक स्वतंत्रता की सेना का सिपाही है।
जब तक हैं बाकि प्राण, रखेंगे हम देश की शान।

No comments:

Post a Comment