January 14, 2018

ज़िंदगी की असफलताओं को दूर करे, जाने ऐसी ही एक कहानी


दोस्तों, आज में ज़िंदगी की असफलताओं को दूर करने के लिए एक कहानी लाया हूँ, मेरा विश्वास है की इस कहानी से आपकी लाइफ में असफलता दूर होगी और आप अपनी लाइफ में सफलता प्राप्त करोगे।

एक बार एक लकड़हारे को नौकरी की तलाश थी। उसने बहुत प्रयास किया और उसके प्रयास के फलस्वरूप उसे लकड़ी काटने की नौकरी मिली। तब वहां उसका एक बॉस था। उसके बॉस ने उस लकड़हारे से कहा कि वो एरिया है वहां जाकर तुम्हे पेड़ काटने है और शाम को आकर मुझे रिपोर्ट करना है, कि तुमने एक दिन में कितने पेड़ काटे। तब वह वहां पहुंचा और पेड़ काटना शुरू किया और शाम को अपने बॉस के पास रिपोर्ट देने गया और बताया कि सर आज मेने 18 पेड़ कटे। तब बॉस ने बोला क्या बात तुमने जो काम किया बहुत अच्छा है ऐसे ही करते रहो।

दूसरे दिन वह जोश में था तो उसने और पेड़ कटे। ऐसे ही तीसरे दिन जो पेड़ काटे तो जो नंबर था वो घटकर 15 रह गया। चौथे दिन 12, पांचवे दिन 10 पेड़ ही काट पाया। ऐसे ही दिन पे दिन पेड़ो को काटने की छमता कम होते गयी। उस लकड़हारे के समझ नहीं आया की दिन पे दिन पेड़ो को काटने की छमता कम क्यों होती जा रही है, तब उसके बॉस ने बहुत ही महत्पूर्ण बात कही कि, तुमने कितने दिन हो गए अपनी कुल्हड़ी को धार नहीं किया। तब उस लकड़हारे ने कहा कि मैं काम इतना busy हो गया की सबसे जरुरी तो इस कुल्हड़ी की धार करना है।

ठीक ऐसा ही आपकी और हमारी लाइफ में होता है, हम जब भी कोई नया काम करते है चाहे पढ़ाई हो या जॉब हो। हर वक़्त हमें नयी एनर्जी की जरूरत होती है। नए तरीके से सोचने की जरूरत होती है। अपनी सोच को बड़ाइये, अपनी एनर्जी को बड़ाइये नए तरीके से सोचना शुरू कीजिए, तभी जाकर आप अपने लक्ष्य को प्राप्त कर पाएंगे।

No comments:

Post a Comment